Vaishnav Dharm Gk in Hindi | वैष्णव धर्म की पूरी जानकारी Hindi में |

Vaishnav Dharm Gk in Hindi (वैष्णव धर्म) हेल्लो दोस्तों, आज की इस लेख में हम आपको इतिहास (History) के अंतर्गत Vaishnav Dharm (वैष्णव धर्म) के Topic पर पूरी जानकारी देंगे | तो दोस्तों हमारे लेख को अंत तक जरुर पढ़े ताकि आपको पूरी जानकारी मिल सके |

Vaishnav Dharm Gk in Hindi | वैष्णव धर्म की पूरी जानकारी Hindi में |

Vaishnav Dharm (वैष्णव धर्म) Gk in Hindi -

  • वैष्णव धर्म के विषय में प्रारंभिक जानकारी उपनिषदों से मिलती है | इसका विकास भगवत धर्म से हुआ है | नारायण के पूजक मूलतः पचतंत्र कहे जाते थे |
  • वैष्णव धर्म के प्रवर्तक कृष्ण थे, वृषण कबीले के थे और जिनका निवास स्थान मथुरा था |
  • कृष्ण का उल्लेख सर्वप्रथम छान्दोग्य उपनिषद में देवकी पुत्र और आंगिरस के शिष्य के रूप में हुआ है |
  • वासुदेव कृष्ण का का सबसे प्रारंभिक अभिलेखीय उल्लेख बेसनगर स्तम्भ अभिलेख में पाया गया है |
  • विष्णु के दस अवतारों का उल्ल्लेख मत्स्यपुराण में मिलता है | दस अवतार इस प्रकार है - मत्स्य, कूर्म, वराह, न्रसिह, वामन, परशुराम, राम, बलराम, बुद्ध एवं कल्कि|
  • गुप्तकाल में विष्णु का वराह अवतार सर्वार्धिक प्रसिद्ध था |
  • नोट - भगवान विष्णु के सुदर्शन चक्र में छ: तिलिया है |

Vaishnav Dharm (वैष्णव धर्म) Gk Question in Hindi -

  1. श्रीवैष्णव सम्प्रदाय के संस्थापक कौन थे – रामानुज
  2. ब्रह्मसूत्र पुस्तक के लेखक कौन थे – रामानुज
  3. दासबोध पुस्तक के लेखके कौन थे – रामदास
  4. ब्रह्म सम्प्रदाय का क्या मत था – द्वैत
  5. सनक सम्प्रदाय के आचार्य कौन थे – निम्बार्क
  6. ब्रह्म सम्प्रदाय की आचार्य कौन थे – आनंदतीर्थ
  7. वैष्णव सम्प्रदाय का मत क्या था – विशिष्टाद्वैत
  8. वैष्णव सम्प्रदाय के आचार्य कौन थे – रामानुज
  9. वैष्णव धर्म के प्रवर्तक कौन थे – कृष्ण
  10. विष्णु के दस अवतारों का उल्लेख किस पुराण में मिलता है – मत्स्यपुराण
  11. गुप्तकाल में विष्णु का कौन-सा अवतार सबसे अधिक प्रसिद्ध था – वराह
  12. वैष्णव धर्म (Vaishnav Dharm) के विषय में प्रारंभिक जानकरी कहाँ से मिलती है – उपनिषदों से
  13. वैष्णव धर्म का विकास किस धर्म से हुआ – भगवत
  14. बरकारी सम्प्रदाय के संस्थापक कौन थे – नामदेव
  15. अध्यात्म रामायण पुस्तक के लेखक कौन थे – रामानन्द
  16. परमार्थ सम्प्रदाय के संस्थापक कौन थे – रामदास
  17. अंकोरवाट का मंदिर किसने बनवाया था – सूर्यवर्मा द्वितीय
  18. सर्वप्रथम किस उपनिषद में कृष्ण का उल्लेख देवकी-पुत्र और अंगिरस के शिष्य के रूप में मिलता है – छांदोग्य उपनिषद्

अगर आपको इस पोस्ट में दी गयी जानकारी अच्छी लगी हो तो इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ Social Media पर Share अवश्य करें ! और Comment के माध्यम से बताऐं की ये पोस्ट आपको कैसे लगी - धन्यवाद |

Follow us on Social Media Sites - 

  • Telegram पर फॉलो करे – Click Here
  • Facebook पर फॉलो करे – Click Here

Post a Comment

Previous Post Next Post